मन से कवि। दिमाग से पत्रकार। पेशे से शिक्षक।
 
Biography
1996 से 2011 तक अनवरत पत्रकारिता। पहले प्रिन्ट और फिर इलेक्ट्रोनिक मीडिया। मीडिया में कार्य करते हुए ही सर्जनात्मक पत्रकारिता पर पीएच डी की। सृजन पथ पर चलने की अभिलाषा बचपन से ही शुरु हो गई। पहली रचना पांचवी कक्षा में लिखी और वह स्थानीय दैनिक समाचार पत्र में प्रकाशित हुई। तब से अब तक शताधिक कविताएं और फीचर देश भर की पत्र पत्रिकाओं में प्रकाशित। पहला कविता-संग्रह 1999 में “एक टुकडा आसमान” के नाम से प्रकाशित हुआ।
 
Awards
कविता-संग्रह “एक टुकडा आसमान” सन 2000 में राजस्थान साहित्य अकादमी के “सुमनेश जोशी पुरस्कार” के लिए चुना गया। 1995 में कविता और सर्जनात्मक लेखन के लिए महाराणा मेवाड फाउंडेशन का “महाराणा राजसिंह पुरस्कार”, 1995 में राजस्थान साहित्य अकादमी का “चन्द्रदेव शर्मा युवा कवि पुरस्कार” और 1992 में इम्पिटस संस्थान, उदयपुर की ओर से “मुक्तक भानावत कविता सम्मान” से पुरस्कृत।